• Wednesday, 22 May 2024
गांव के बगल में है स्कूल, दूर जाने पर किया जा रहा मजबूर, भड़क गए हैं विद्यार्थी और अभिभावक

गांव के बगल में है स्कूल, दूर जाने पर किया जा रहा मजबूर, भड़क गए हैं विद्यार्थी और अभिभावक

DSKSITI - Small

गांव के बगल में है स्कूल, दूर जाने पर किया जा रहा मजबूर, भड़क गए हैं विद्यार्थी और अभिभावक 

 

शेखपुरा

 

बिहार का शिक्षा विभाग लगातार विवादों में चल रहा है। प्रंत्येक दिन किसी न किसी तरह के आदेश से जहां शिक्षक पहले परेशान थे , वहीं अब विद्यार्थी और बच्चों की भी परेशानी बढ़ गई है। इसी तरह की एक परेशानी की वजह से कई बच्चों को घर के बगल के स्कूल से छह किलोमीटर दूर पंचायत के हाई स्कूल में नामांकन का निर्देश दिया गया है जबकि उसे स्कूल में जाने के लिए बच्चों के लिए कोई रास्ता नहीं है।

 

इनमें से ज्यादातर बच्चियों हैं। कुल 109 विद्यार्थियों में 62 बच्चियों को यह परेशानी उठानी पड़ रही है। दरअसल, बिहार शिक्षा विभाग के द्वारा अपने ही पंचायत के स्कूल में नामांकन दिए जाने का निर्देश दे दिया गया है। इस वजह से यह परेशानी हुई है। इससे पहले भी इसी मुद्दे को लेकर शेखपुरा जिला मुख्यालय में सड़क जाम किया गया था।

 

अभी एक बार फिर शिक्षा विभाग के कार्यालय घेरने के लिए बच्चे पहुंच गए। बच्चे बरबीघा प्रखंड के मकनपुर डीह, काजीचक और मूसापुर गांव के थे। उनके साथ अभिभावक के रूप में उमेश चौधरी, सोनू कुमार, भूषण पासवान, राजीव चौधरी , उपेंद्र पासवान इत्यादि ने बताया कि उनके गांव से एक किलोमीटर की दूरी पर दूसरे पंचायत का केवटी उच्च विद्यालय है । पहले यहीं गांव के बच्चे पढ़ते थे । अब इन बच्चों का यहां नामांकन नहीं हो रहा है। अपने पंचायत का स्कूल तोय गांव में है। यह उनके गांव से छह किलोमीटर दूर है । यहां जाने में कठिनाई भी होगी। कोई प्रमुख रास्ता भी नहीं है। साथ ही साथ छह किलोमीटर दूरी पर भी है। 109 विद्यार्थियों में 62 बच्चियां हैं। जो उसे स्कूल में जाने से असमर्थ है। ऐसे में काफी परेशानी हो रही है।

DSKSITI - Large

 

इसको लेकर जिला शिक्षा पदाधिकारी को एक ज्ञापन सौंपा गया है। जिला शिक्षा पदाधिकारी ओम प्रकाश सिंह ने बताया कि विभाग से इसी तरह का निर्देश मिला है। यह स्थानीय स्तर परयह नहीं किया गया है।

new

SRL

adarsh school

st marry school

Share News with your Friends

Comment / Reply From

You May Also Like