• Monday, 26 September 2022
शराबबंदी का सच: सात लाख की जप्त शराब शेखपुरा उत्पाद विभाग ने ही किया गायब !! अब क्या होगा….

शराबबंदी का सच: सात लाख की जप्त शराब शेखपुरा उत्पाद विभाग ने ही किया गायब !! अब क्या होगा….

शेखपुरा।

सात लाख की जप्त 619 लीटर विदेशी शराब उत्पाद विभाग ने ही गायब कर दिया। मामला शेखपुरा जिले का है। मामले के सामने आते ही जिले में खलबली मच गई। मामला तब आया सामने जब सख्त जिला अधिकारी योगेंद्र प्रसाद सिंह ने विभाग की समीक्षा की।

डीएम ने पकड़ी गड़बड़ी

समीक्षा के दौरान गलत आंकड़े देने पर जिलाधिकारी ने इसे पकड़ लिया और जांच के निर्देश दिए। जिलाधिकारी को समीक्षा बैठक में दिए गए आंकड़े के अनुसार विभाग में 619 लीटर शराब गायब हो गया। गायब शराब के बारे में शेखपुरा जिले के उत्पाद अधीक्षक अमृता सिंह को भी कुछ भी पता नहीं है।

क्या है पूरा मामला

दरअसल शेखपुरा जिला अधिकारी योगेंद्र प्रसाद सिंह उत्पाद विभाग की समीक्षा कर रहे थे। समीक्षा बैठक में उत्पाद विभाग में जो आंकड़ा दिया उसके अनुसार उत्पाद विभाग के द्वारा 31 मार्च तक 1464.2 लीटर विदेशी शराब जप्त की गई थी जिसका विनष्टीकरण एसडीओ, एसडीपीओ की देखरेख में किया गया जो केवल 845 लीटर ही विनष्टीकरण किया गया। बाकी गायब है। 680.4 लीटर देसी शराब बरामद हुई और नष्ट केवल 640.4 हुआ जबकि 50 लीटर मसालेदार शराब जब्त हुई और नष्ट केवल 28 लीटर नष्ट किया गया।

61 9 लीटर विदेशी शराब विभाग के द्वारा ही गायब कर दिया गया

जिलाधिकारी ने इसकी सख्त जांच के आदेश दिए हैं। अनुमान लगाया जा रहा है कि इसमें शामिल लोगों की गर्दन शीघ्र ही फंसेगी। विभाग में खलबली है।

उधर इस संबंध में उत्पाद अधीक्षक अमृता सिंह कहते हैं कि यह मामला उनके कार्यकाल से पहले का है और इसके बारे में उनके पास कोई भी जानकारी नहीं है।

उधर इस संबंध में उत्पाद मालखाना प्रभारी अरुण कुमार ने मीडिया को बताया कि शराब गायब होने का किसी प्रकार का मामला नहीं है। शराब जब्त होने के क्रम में कुछ सेम्पल इत्यादि के लिए रखा जाता है और कुछ जांच के लिए भेजा जाता है इसी की वजह से आंकड़े ज्यादा कम हो सकते है।

Share News with your Friends

Tags

Comment / Reply From