latest posts

9430804472 / 7992322662 [email protected]
अरियरीआजकल

आय हो दादा!! मुर्दे करते है काम, नकालते है बैंक से पैसे

शेखपुरा।

शेखपुरा जिले में मनरेगा में लूट-खसोट और घोटाले के परत दर परत खुलते जा रहे हैं। इसी कड़ी में शेखपुरा जिला अधिकारी योगेन्द्र सिंह के सख्त रुख की वजह से मनरेगा घोटाला सामने आया और कार्रवाई भी हो गई। इस आशय की जानकारी डीएम योगेन्द्र सिंह ने दी।

मुर्दों के नाम पे निकासी

मामला जिले के अरियरी प्रखंड के हुसैनाबाद पंचायत का है। अरियरी प्रखंड तत्कालीन के पंचायत सेवक राम नरेश पासवान के द्वारा मुर्दों के नाम पर मनरेगा की राशि निकाली गई। साथ ही साथ विद्यार्थियों और आंगनबाड़ी सेविका सहायिका के नाम पर भी मनरेगा की राशि निकाले जाने का मामला जांच में सामने आया।

मॉनिटरिंग कर रहे थे DM

इसी तरह से पूरे मामले की मॉनिटरिंग कर रहे DM योगेंद्र सिंह ने जब इसकी पड़ताल करवाई तो कई मामले सामने आए जिसमें सरकारी स्कूल में खाना बनाने वाली महिलाओं के नाम पर भी मनरेगा की मजदूरी निकाली गई। साथ ही साथ घर से कभी नहीं निकलने वाली महिलाओं के नाम पर भी मनरेगा की राशि निकाल ली गई एवं धनवान लोगों के नाम पर भी मनरेगा की राशि फर्जी तरीके से निकाल लेने का मामला सामने आया।

पूरे मामले की जांच जिलाधिकारी के मॉनिटरिंग में कराई गई एवं पंचायत सेवक राम नरेश पासवान पर हरियाली थाना में कुछ माह पहले प्राथमिकी भी दर्ज कराई गई। प्राथमिकी के बाद इसकी जांच भी हुई और सारा मामला सामने आ गया।

किया निलंबित

जिला अधिकारी योगेंद्र सिंह सख्त रुख अख्तियार करते हुए राम नरेश पासवान को जहां निलंबित कर दिया है वहीं राज्य सरकार को अन्य आवश्यक कार्यवाही के लिए भी लिखा है।

बता दें कि यह पूरा मामला राजनीतिक रसूखदार से भी जुड़ा हुआ है और इसी वजह से अभी तक इतने दिनों तक दबी हुई थी। हालांकि अभी भी लोग राजनीतिक रसूखदार पर कार्यवाही की आस लगाए बैठे है। हालांकि सूत्र बताते है अन्य पंचायतों में भी कमा वेश यही हाल है। लोग इसकी जांच की मांग कर रहे है।

stay connected

- Advertisement -

ताज़ा ख़बर

- Advertisement -
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: