• Tuesday, 05 March 2024
दरोगा जी हम्मर बुढ़वा पेंशन नै आ रहलो, जब थाना पहुंचे ननकेसर मांझी

दरोगा जी हम्मर बुढ़वा पेंशन नै आ रहलो, जब थाना पहुंचे ननकेसर मांझी

DSKSITI - Small
दरोगा जी हम्मर बुढ़वा पेंशन नै आ रहलो, जब थाना पहुंचे ननकेसर मांझी  
 
बरबीघा
 
बरबीघा थाना में एक बुजुर्ग पहुंचकर जब थाना में उपस्थित पदाधिकारी से यह पूछ बैठे कि दरोगा जी मेरा वृद्धा पेंशन क्यों नहीं आ रहा है ..? आप कुछ करिए , तो सभी हक्के बक्के रह गए । यह बुजुर्ग बरबीघा थाना क्षेत्र के कुतुबचक गांव के हैं । कई महीने से इनका पेंशन बंद हो गया। 
 
यह बुजुर्ग हैं ननकेसर मांझी। उम्र 65 वर्ष से अधिक । एक पीला रंग के प्लास्टिक के बैग में बैंक का पासबुक, आधार कार्ड रखे हुए हैं। थाना में पहुंचकर उनके द्वारा यह सब दिखाए जाने लगता है । 
थाना में उपस्थित अधिकारी जब कहते हैं कि इसके लिए ब्लॉक जाना होगा तब भी वह नहीं समझते और कहते हैं कि हमारा बूढ़ा पेंशन दिला दीजिए । 
 
 
DSKSITI - Large

उन्होंने बताया कि पंचायत सामस बुजुर्ग पड़ता है। वहां के मुखिया को कई बार उन्होंने कहा परंतु उसके द्वारा कुछ नहीं किया गया ।
 
थक करके वह थाना आए हैं । बुजुर्ग काफी निराश थे और बताया कि बैंक में जाते हैं तो बैंक वाला भाग देता है। उन्होंने बताया कि बरबीघा सहारा इंडिया के बगल में ग्रामीण बैंक में उनका खाता है । वहां जब पूछने के लिए जाते हैं तो वहां के कर्मचारी अधिकारी दुत्तकार कर भगा देते हैं और कहते हैं कि यहां से निकल जाओ ।
 
वहीं ब्लॉक में भी जाने पर कोई जानकारी किसी के द्वारा नहीं दिया जाता। लाचार होकर वह थाना आए हैं। उधर, एक बुजुर्ग के वृद्धा पेंशन बंद होने के बाद थाना पहुंचने पर उनकी लाचारी की लोग चर्चा भी करने लगे । बता दें की बड़ी संख्या में लोगों का वृद्धा पेंशन अचानक से खाता में नहीं आता है और वही परेशान हो जाते हैं। ऐसे में उनका कोई रास्ता भी दिखाने वाला नहीं होता।
new

SRL

adarsh school

st marry school

Share News with your Friends

Comment / Reply From