latest posts

9430804472 / 7992322662 snewssathi@gmail.com
बरबीघा

मुखिया में कहीं छत्रप का टूटा तिलिस्म तो कहीं जमानत जब्त, देखिये लिस्ट

मुखिया में कहीं छत्रप का टूटा तिलिस्म तो कहीं जमानत जब्त, देखिये लिस्ट

बरबीघा

शेखपुरा जिले के बरबीघा में पंचायत चुनाव परिणाम आने के बाद तरह-तरह के चर्चाओं का दौर भी जारी है। जहां एक तरफ के 20 साल का तिलिस्म तेउस पंचायत में टूटने की बात कही जा रही है तो दूसरी तरफ कई मुखिया जमानत भी नहीं बचा सके। कुछ मुखिया जो जीत के दावे कर रहे थे वे तीसरे नंबर पर आए तो कहीं गुमनाम रह कर भी जीत का डंका बजा दिया गया। मुखिया चुनाव परिणाम में प्रखंड के सभी 9 प्रत्याशियों में सभी नए चेहरे जीतकर सामने आ गए । बिहार भर के बदलाव के इस दौर में बरबीघा ने भी अपनी एक अलग पहचान दी और एक भी निवर्तमान मुखिया की जीत नहीं हुई।

 

तेउस पंचायत में पिछले 20 साल से विधानसभा के पूर्व प्रत्याशी रहे त्रिशूलधारी सिंह का कब्जा रहा है। इससे पहले इसी पंचायत से जीतकर मुखिया बने थे। जिला परिषद, मुखिया, पंचायत समिति से लेकर सभी पदों पर उनका कब्जा था। यह तिलिस्म इस बार यहां जनता की गोलबंदी से टूट गई। मुखिया के समर्थक गोपाल सिंह कहते हैं कि पंचायत में जनता की जीत हुई है। दबंगई से जीत कर जाने वालों को जनता ने अपनी वोट से जवाब दिया है और बता दिया कि लोकतंत्र में वोट का ही महत्व होता है।

See also  News Capsule: आग लगने से धान का पुंज जलकर राख

जिला परिषद में करारी टक्कर

 

इतना ही नहीं जिला परिषद में अनुमान के विपरीत प्रतिद्वंदी ने निवर्तमान सदस्य गीता देवी को खूब छकाया और अंततः किसी तरह से जीत हासिल की। एक तरफा जीत की बात चुनाव से पहले निवर्तमान सदस्य कि कही जा रही थी। वही सभी जगह कांटे की टक्कर रही और मालदा पंचायत में जाकर जीत हासिल हुई।

बरबीघा में चुनाव परिणाम आने के बाद डॉक्टर दीपक मुखिया ने रिकॉर्ड जीत बनाया। 1014 मतों से जीत दर्ज की। वही पहले नंबर पर सर्वा पंचायत से विनोद कुमार की पत्नी मुन्नी देवी ने सर्वाधिक 1102 मतों से जीत का रिकॉर्ड बनाया। इसी तरह से पांक पंचायत की मुखिया सीता देवी अपनी जमानत भी नहीं बचा सकी और 190 अंक पर ही सिमट गई। इसी तरह से कुटोत पंचायत के मुखिया बेबी देवी और पिंजड़ी पंचायत की मुखिया मीनाक्षी किशोर तीसरे स्थान पर रही। सामस बुजुर्ग पंचायत के निवर्तमान मुखिया नीलम देवी मात्र 22 मतों से हार का सामना करना पड़ा।

See also  News Capsule: आग लगने से धान का पुंज जलकर राख


प्रखंड प्रमुख भी चुनाव हारे

बरबीघा प्रखंड के चुनाव में प्रखंड प्रमुख को भी हार का सामना करना पड़ा। यहां त्रिशूल धारी सिंह खेमे से सदस्य सुदो राम को करारी हार का सामना करना पड़ा। यहां भाजपा के प्रखंड अध्यक्ष राकेश कुमार ने जबरदस्त जीत हासिल की। यह तेउस पंचायत का मामला है। इसी पंचायत से सामाजिक कार्यकर्ता मिंटू कुमार ने दूसरी बार जबरदस्त सफलता हासिल की। पंचायत समिति में पहले उनकी पत्नी यहां से प्रतिनिधि थी । इस बार खुद चुनाव जीते।

पंचायत समिति में चर्चित चेहरों में प्रखंड उप प्रमुख धीरज कुमार ने चुनाव जीतने में सफलता हासिल की।

2 Comments

  1. जिता हुआ जो भी मुखिया हा़रे है मैउनके लिये सांत्वना व्यक्त करता हूं ? परंतु जो मुखिया प्रतयासी पिछले कई बर्षो से हार की सामना कर रहे हैं उनसे गुजारिस हैं की वे अपने को पुरी तरह से बदल ले ! और ईक बात को अच्छी तरह से समझ लो कि हम बिहार की युवा और जिस ओर जवानी चलतीं है उस ओर जवाना चलता है!

  2. जिता हुआ जो भी मुखिया हा़रे है मैउनके लिये सांत्वना व्यक्त करता हूं ? परंतु जो मुखिया प्रतयासी पिछले कई बर्षो से हार की सामना कर रहे हैं उनसे गुजारिस हैं की वे अपने को पुरी तरह से बदल ले ! और ईक बात को अच्छी तरह से समझ लो कि हम बिहार की युवा और जिस ओर जवानी चलतीं है उस ओर जवाना चलता है!

Comments are closed.

stay connected

- Advertisement -

ताज़ा ख़बर

- Advertisement -
error: Content is protected !!
Open chat