• Tuesday, 18 June 2024
साहित्य व्यंग्य: एक प्रोफेसर साहब ने एक दबंग को बाइक से मारी टक्कर की अजब कहानी

साहित्य व्यंग्य: एक प्रोफेसर साहब ने एक दबंग को बाइक से मारी टक्कर की अजब कहानी

DSKSITI - Small

साहित्य व्यंग्य: एक प्रोफेसर साहब ने एक दबंग को बाइक से मारी टक्कर की अजब कहानी

 

डॉ भावेश चंद्र पांडेय

 

तमाशबीन

 

कल ही एक वरिष्ठ साथी ने बताया कि एक कॉलेज के प्राध्यापक के दोपहिया से भिड़कर एक व्यक्ति का पांव टूट गया। चश्मदीद के अनुसार गलती चालक की नहीं थी। किंतु उसकी गलती यह थी कि वह दबंग नहीं था और स्थानीय भी नहीं था। दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति स्थानीय भी था और कथित रूप से दबंग समुदाय का भी।

बात निकली तो दूर तक जानी ही थी। सबसे पहले कथित प्राध्यापक को स्थानीय लोगों ने घेरा। फिर उसकी पिटाई का परिवेश बनाकर उसे डराया। फिर मोल भाव शुरू हुआ। बात तय हुई कि चालक को प्रभावित व्यक्ति के ईलाज का खर्च वहन करना होगा। 

     अचानक उस व्यक्ति शान शौकत बढ़ गयी। बड़े भाग्य की वह दुर्घटना हुई। वह अब लक्ज़री रिज़र्व वाहन से डॉक्टर के पास जाने लगा। इस दौरान उसके साथ जो भी जाते उनके खाने का खर्च भी प्राध्यापक महोदय के माथे मढ़ा जाने लगा। उसके घर का खर्च भी ज्यादातर उन्हें उठाना पड़ रहा है। इस प्रकार अबतक मात्र 67 हज़ार रुपये वो दे चुके हैं। अब उनसे कहा जा रहा है कि यदि दुर्घटना नहीं हुई होती तो वह व्यक्ति खेती बाड़ी करता। इसका नुकसान कौन भरेगा?

परेशान प्राध्यापक महोदय कॉलेज से स्थानांतरण करवाकर अन्यत्र चले जाने की सोच रहे हैं। उन्हें सोने का अंडा देने वाली मुर्गी समझकर शोषण किया जा रहा है।

मैंने पूछा, इस मामले को पुलिस को क्यों नहीं बताते? या फिर इसकी पंचायती क्यों करवाते हैं?

मुझे बताया गया कि दोनों विकल्प बेकार हैं। पुलिस को प्राध्यापक जैसे निरीह प्राणी की फिक्र करने से ज्यादा महत्वपूर्ण कई काम हैं जो अपेक्षाकृत ज्यादा लाभप्रद भी हैं। फिर पुलिस उनकी कहाँ-कहाँ रक्षा करेगी?

DSKSITI - Large

दूसरी ओर जो दबंग हैं उनकी पंचायती कौन करे? 

और आखरी बात, यह मामला सुलझ जाये किसको पड़ी है।

फिलहाल प्राध्यापक महोदय हर अगले दिन कॉलेज निकलते समय सोचते हैं पता नहीं पैसे ऐंठने की कौन सी अगली तरकीब सोचकर बैठा होगा वह दुर्घटनाग्रस्त आदमी।

 

 

आलेख लेखक के फेसबुक से साभार। लेखक बरबीघा के श्री कृष्ण रामरूची कॉलेज में अंग्रेजी के प्राध्यापक हैं। फिलहाल मुंगेर विश्वविद्यालय में निरीक्षक के पद पर कार्यरत।

new

SRL

adarsh school

st marry school

Share News with your Friends

Comment / Reply From