• Tuesday, 05 March 2024
विवादों में घिरा विष्णु धाम महोत्सव, मंदिर के अध्यक्ष की उपेक्षा से आक्रोश

विवादों में घिरा विष्णु धाम महोत्सव, मंदिर के अध्यक्ष की उपेक्षा से आक्रोश

DSKSITI - Small

विवादों में घिरा विष्णु धाम महोत्सव, मंदिर के अध्यक्ष की उपेक्षा से आक्रोश

 

बरबीघा, शेखपुरा:

 

 जिले की पहचान बरबीघा के सामस विष्णु धाम मंदिर का महोत्सव विवादों में घिर गया। विलेज पॉलिटिक्स की वजह से दो खेमे के आपसी लड़ाई में मंदिर को शामिल करते हुए मंदिर पर कब्जे को लेकर तिकड़मबाजी का नतीजा महोत्सव में खुलकर सामने आया ।

 

महोत्सव में मंदिर समिति के अध्यक्ष एवं मंदिर को शून्य से शिखर तक ले जाने वाले बरबीघा के प्रख्यात चिकित्सक डॉ कृष्ण मुरारी प्रसाद सिंह की उपेक्षा से लोगों में आक्रोश रहा। लोग इस बात की भी चर्चा करते दिखे और काना फूसी होती रही।

 

मौके पर कई लोगों ने बताया कि विष्णु धाम मंदिर में डॉक्टर कृष्ण मुरारी प्रसाद सिंह ने अपना सर्वस्व दिया। बिहार के मुख्यमंत्री को यहां बुलाया। उससे पहले धार्मिक न्यास बोर्ड के तत्कालीन अध्यक्ष किशोर कुणाल को लाकर इसकी बड़ी पहचान बनाई। फिर अपने चिकित्सक ग्रुप , रोटरी क्लब, आईएमए में घूम-घूम कर लोगों से चंदा लिया । बड़े दानदाता को यहां आकर्षित किया। जिसकी वजह से मंदिर का निर्माण हो रहा है। गुंबद बन गया।

 

 

 

 

 वही मंदिर पर कब्जे को लेकर विलेज पॉलिटिक्स में उनके ऊपर अनियमित का आरोप लगाकर धार्मिक न्यास बोर्ड बिहार सरकार को पत्र लिखा गया। कुछ माह पहले लिखे गए पत्र में जांच के बाद किसी तरह की अनियमितता नहीं आई जिसके बाद डॉक्टर कृष्ण मुरारी को पुनः अध्यक्ष बना दिया गया ।

 

इससे बौखलाए ग्रामीण राजनीति के दबंगों ने फिर से आरोप लगाकर आवेदन दिया । जिसके बाद धार्मिक न्यास बोर्ड ने प्रतिवेदन मांगा गया।

DSKSITI - Large

 

 

विष्णु धाम मंदिर के अध्यक्ष डॉक्टर कृष्ण मुरारी कहते हैं कि एक-एक पैसे का यहां हिसाब रखा जाता है। मंदिर के आमदनी और खर्च का हिसाब प्रत्येक वर्ष धार्मिक न्यास बोर्ड बिहार सरकार को भेजा जाता है । प्रत्येक वर्ष ऑडिट किया जाता है। किसी भी तरह की अनियमित यहां नहीं हुई है। जानबूझकर बदनाम करने और विलेज पॉलिटिक्स में यह हो रहा है।

 

वहीं इसको लेकर भी खूब चर्चा होती रही। बताया जाता है कि महोत्सव का श्री गणेश भी डॉक्टर कृष्ण मुरारी प्रसाद सिंह के द्वारा किया गया।  इस बार के महोत्सव में अध्यक्ष के नाम का कहीं जिक्र नहीं देखा गया। अध्यक्ष के नाम पर पैक्स  के अध्यक्ष जनार्दन सिंह मेला समिति के अध्यक्ष बनाकर सारे आयोजन में हावी रहे । वहीं ग्रामीण एवं पूर्व मुखिया पंकज सिंह कर्ताधर्ता बनाकर ग्रामीण राजनीति में मंदिर को घसीटने को लेकर खूब चर्चा में रहे।

 

सांसद विधायक को नहीं मिला निमंत्रण, डीएम एसपी भी नहीं आए 

 

महोत्सव में पांच दिवसीय विष्णु धाम महोत्सव की चर्चा राज्य भर में होती थी। इस महोत्सव में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी आ चुके हैं। वैसे में इस बार के महोत्सव में सांसद और स्थानीय विधायक को भी निमंत्रण नहीं दिया गया। इसको लेकर भी लोगों में आक्रोश रहा। उधर, महोत्सव में डीएम और एसपी को अतिथि के रूप में  बुलाया गया था परंतु उनकी भी उपस्थित नहीं रही। जबकि कोई जिला स्तर के अधिकारी भी महोत्सव में शामिल नहीं हुए। महोत्सव में भीड़ भी काम रही।  इसकी भी चर्चा खूब होती रही।

new

SRL

adarsh school

st marry school

Share News with your Friends

Comment / Reply From