• Tuesday, 07 February 2023
भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी के बरबीघा आते ही राजनीतिक पारा चढ़ा

भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी के बरबीघा आते ही राजनीतिक पारा चढ़ा

भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी के बरबीघा आते ही राजनीतिक पारा चढ़ा

 

बरबीघा, शेखपुरा

 

भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी के बरबीघा आते ही बरबीघा का राजनीतिक तापमान चढ़ने लगा है। इसमें जदयू के खेमेबाजी भी सतह पर आ गई। वहीं कई तरह के अटकले भी लगनी शुरू हो गई। अशोक चौधरी बुधवार की देर शाम एक व्यक्तिगत समारोह में शामिल होने के लिए  आए थे । इसी दौरान अपने संपर्क के लोगों से भी मिले । कई स्थानों पर बैठकी भी लगाई। 

दरअसल, बरबीघा नगर परिषद की राजनीति का वर्तमान चुनाव एक बड़ा हिस्सा रहा है। जदयू के स्थानीय विधायक सुदर्शन कुमार के द्वारा समर्थित प्रत्याशी उप मुख्य पार्षद निधि कुमारी जीत कर आई। जदयू नेता सुरेश सिंह की बहू है एवं उनके भतीजे कुणाल किशोर की पत्नी है।

बरबीघा विधायक सुदर्शन कुमार का स्वागत करती निधि कुमारी, मौके पर उपस्थित कार्यपालक पदाधिकारी एवं अन्य लोग

सुदर्शन कुमार के द्वारा उप मुख्य पार्षद का सोमवार को स्वागत किया गया था। इस दौरान शक्ति प्रदर्शन किया गया और अपने खेमे के पार्षदों को भी वहां जुटाया जिसमें प्रसून कुमार भल्ला इत्यादि प्रमुख हैं। वहीं बुधवार की शाम भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी जब बरबीघा व्यक्तिगत समारोह में शामिल होने के लिए पहुंचे तो श्री कृष्ण चौक पर रूके । पुराना पेट्रोल पंप पर नरसिंहपुर निवासी अरविंद सिंह ने उनका स्वागत किया। जहां राजनीति में दूसरे खेमे के माने जाने वाले त्रिशूलधारी सिंह के पुत्र एवं निवर्तमान नगर सभापति रोशन कुमार, वर्तमान मुख्य पार्षद सोनू कुमार को लेकर वहां पहुंचे और उनका स्वागत भी भवन निर्माण मंत्री ने किया। इस दौरान पुराने कांग्रेस के कई नेता भी उपस्थित रहे।

भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी के बरबीघा आते ही राजनीतिक पारा चढ़ा

हालांकि इस संबंध में पूछे जाने पर अशोक चौधरी ने स्पष्ट किया कि बरबीघा से उनका पुराना नाता रहा है। यहां के जब विधायक थे तो बहुत लोगों से पारिवारिक संबंध रहा। ऐसे में यहां शादी समारोह में शामिल होने के लिए आए थे । उनका कोई राजनीतिक उद्देश्य नहीं है। यहां के लोगों का प्रेम लगातार मिलता रहा है। किसी दिन ऐसा नहीं है कि बरबीघा के कई लोग पटना आवास पर अपनी समस्या लेकर नहीं पहुंचते हैं और उनका निराकरण उनके द्वारा लगातार किया जाता है। हालांकि इस मामले को जदयू के एक खेमे को उपेक्षित करने के रूप में भी प्रचारित प्रसारित कराया जा रहा है।

भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी के बरबीघा आते ही राजनीतिक पारा चढ़ा

Share News with your Friends

Comment / Reply From

You May Also Like