• Tuesday, 04 October 2022
शेखपुरा डीएम सावन कुमार रात को पहुंचे सदर अस्पताल तो गायब मिले डॉक्टर

शेखपुरा डीएम सावन कुमार रात को पहुंचे सदर अस्पताल तो गायब मिले डॉक्टर

शेखपुरा डीएम सावन कुमार रात को पहुंचे सदर अस्पताल तो गायब मिले डॉक्टर

 

शेखपुरा 

 

शेखपुरा डीएम सावन कुमार मंगलवार की रात आठ बजे सदर अस्पताल औचक निरीक्षण में पहुंचे। औचक निरीक्षण के क्रम में दो डॉक्टर की ड्यूटी थी पर एक डॉक्टर ही उपस्थित पाए गए। वही साफ-सफाई, बेड पर चादर की व्यवस्था ठीक नहीं होने की स्थिति भी सामने आई। इन सब स्थितियों पर अनुपस्थित डॉक्टर पर गाज गिरी है। वही साफ-सफाई और चादर के मामले पर भी डीएम के निर्देश पर करवाई की गई।

 

इस संबंध में अस्पताल के उपाधीक्षक के द्वारा जिलाधिकारी के जांच को लेकर दिए गए प्रतिवेदन में कहा गया है कि मंगलवार की रात को सदर अस्पताल के औचक निरीक्षण पर जिलाधिकारी सावन कुमार जब 8:00 बजे पहुंचे तो डॉ अमिय अग्रवाल उपस्थित पाए गए। जबकि डॉ विपिन कुमार चौधरी अनुपस्थित पाए गए। अनुपस्थित पाए गए डॉक्टर के वेतन को स्थगित करने का निर्देश दिया गया है।

 

प्रसव वार्ड के वेड पर चादर नहीं होने पर भी जिलाधिकारी ने नाराजगी जाहिर की। ड्यूटी पर एएनएम धर्मशिला कुमारी और चंदा कुमारी उपस्थित थी । दोनों से स्पष्टीकरण स्पष्टीकरण पूछा गया है।

 

इसी तरह से प्रसव वार्ड के शौचालय की साफ-सफाई संतोषजनक नहीं पाई गई। जबकि नवजात शिशुओं के देखभाल के लिए स्थापित एसएनसीयू में भी साफ-सफाई संतोषजनक नहीं रहने पर साफ सफाई की एजेंसी के 75% भुगतान की कटौती करने का निर्देश दिया गया है।

 

जिलाधिकारी के इस कार्रवाई पर सदर अस्पताल में हड़कंप की स्थिति देखी जा रही है। बता दें कि सदर अस्पताल में डॉक्टर के नहीं रहने की लगातार शिकायत मिलती है। बता दें कि जिलाधिकारी सावन कुमार के द्वारा लगातार सदर अस्पताल का निरीक्षण किया जाता रहा है। अस्पताल की विधि व्यवस्था को दुरुस्त करने को लेकर उन्होंने अपनी प्राथमिकता कई बार जाहिर की है। वही ड्यूटी से गायब रहने वाले डॉक्टरों की उपस्थिति शत-प्रतिशत सुनिश्चित करने का लगातार उनके द्वारा निर्देश दिया गया। कई बार कार्रवाई की गई। सदर अस्पताल में सभी कर्मियों के उपस्थिति को सुनिश्चित करने के लिए बायोमेट्रिक मशीन भी लगाया गया है। बावजूद कई चिकित्सक अपनी ड्यूटी से गायब रहते हैं। उनके बदले कोई दूसरा डॉक्टर ड्यूटी करता है। रात्रि में एक डॉक्टर से किसी तरह से काम चला लिया जाता है।

Share News with your Friends

Comment / Reply From