आजकल

डीएम ने लिया अधिकारियों की क्लास, दिया टास्क..

dm sheikhpura

शेखपुरा न्यूज़ ब्यूरो

जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह ने शुक्रवार को अधिकारियो की क्लास ली। अधिकारियो को लक्ष्य के अनुरुप गुणवतापूर्ण कार्य सम्पादित करने का पाठ पढाया। योगदान देने के बाद जिलाधिकारी पहली बार अधिकारियो के साथ बैठक आयोजित की।

बैठक में जिले में चलाये जा रहे विकास ओैर कल्याणकारी कार्यो का जाएजा लिया। कार्य में धीमी गति से चल रहे विभाग के अधिकारियो को हडकाने का काम भी किया।

बैठक में कुछ मिनट बिलम्ब से आने वाले सदर अंचलाधिकारी के वेतन स्थगीत करने का भी आदेश दिया और उन्हे समय के महत्व का पाठ पढाया।

जिला सूचना व जन सम्पर्क पदाधिकारी योगेंद्र कुमार लाल ने बताया कि जिलाधिकारी ने भवन निर्माण, सड़क निर्माण, सिचाई, नलकूप, स्थानीय क्षेत्र विकास,मत्स्य, शिक्षा, स्वास्थ्य, आगंनवाडी, मनरेगा, प्रधान मंत्री आवास आदि विभागके कार्यो की बारी बारी से समीक्षा कीं। इन विभागो द्वारा चलाये जा रहे कार्यो की जानकारी ली।

जिलाधिकारी ने पटना उच्च न्यायालय में लंबित सीडब्लूजेसी के मामलो में दो सप्ताह में जबाव तैयार कर हलफनामा दायर करने का निर्देष दिया।

जिलाधिकारी ने मनरेगा के कार्यक्रम पदाधिकारी को प्रधान मंत्री ग्रामीण आवास के तहत लाभूको को मनरेगा के तहत 90 दिन का मानव श्रम दिवस सृजन करने का निर्देश दिया। आवास निर्माण के पूर्ण होने पर यह लाभ दिया जाना है। जिलाधिकारी ने बिना किसी बहानेबाजी के समय पर आवास के सभी लक्ष्य पूरा करने का निर्देश दिया। बैठक में उतपाद, शिक्षा, उद्योग आदि ने अपनी उपलब्धिया भी गीनाई।

ग्राम स्वराज के टास्क को शत प्रतिषत करें पूरा

जिलाधिकारी योगेंद्र कुमार ने ग्राम स्वराज अभियान के तहत चलये जा रहे कार्यो को शत प्रतिशत पूरा करने का आदेश दिया है। सरकार द्वारा चलाये जा रहे अभियान के तहत स्वच्छ ईधन, सभी को टिकाकरण, किसान कल्याण आदि के कार्य निर्धारित है। बैठक में जिलाधिकारी के साथ डीडीसी निरंजन कुमार झा, जिला आपूर्ति पदाधिकारी, सिविल सर्जन डा एमपी सिंह आदि मौजूद थे। जिलाधिकारी ने सौभाग्य योजना, उज्जवला योजना, मिशन इंद्र धनुष आदि के अतंर्गत लक्ष्य पूरा कर लेने को कहा है।

गौर तलब है कि सरकार द्वारा पूरे देश में 14 अप्रैल से 05 मई तक ग्राम स्वराज अभियान चला कर गरीब लोगो को मूलभूत सुविधा मुहैया कराने का बीड़ा उठाया था। जिले में इस अभियान के तहत सात गांवों का चयन किया गया है। सदर प्रखंड के मंदना, सुरदासपुर और फरीदपुर, बरबीघा प्रखंड के मिर्जापुर, गोडडी, उखदी और कंहौली का चयनित किया गया था।

%d bloggers like this: