शेखपुरा

“आप मजदूर है गुलाम नही’’ – श्रम पदाधिकारी। जानिए मजदूरों को क्या क्या मिलना चाहिए लाभ..

शेखपुरा न्यूज़ ब्यूरो

जिला श्रम पदाधिकारी पृथ्वी नाथ पाण्डेय ने विश्व मजदूर दिवस के अवसर पर मजदूरों को संबोधित करते हुए कहा कि आप मजदूर है किसी के गुलाम या बेगार नही है। आपसे काम लेने वालों को न्यूनतम मजदूरी देना होगा।

उन्होंने न्युनतम मजदूरी को भी परिभाषित किया। बताया कि परिवार को पूर्ण रुपेण भरण पोषण किये जाने योग्य रुपया ही न्युनतम मजदूरी है। विश्व मजदूर दिवस पर मंगलवार को जिला श्रम संसाधन विभाग द्वारा मजदूरों को जागरुक करने के लिए एक कार्यशाला का आयोजन किया गया था। कार्यशाला का आयेजन स्थानीय इस्लामिया उच्च विद्यालय में किया गया था।

इसका विधिवत उदघाटन दीप जलाकर किया गया। जिला श्रम पदाधिकारी पृथवी नाथ पाण्डेय के साथ प्रखंड श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी अजय कुमार, अशोक कुमार, मनीष कुमार, एटक के जिला मंत्री अमित कुमार सहित बडी संख्या में मजदूर शामिल थे।

कार्यशाला में भाग लेने के लिए जिले के दूर दूर से मजदूर आये थे। इसमें महिला मजदूर भी शामिल थी। इस अवसर पर मजदूरों का निबंधन भी किया गया। विश्व मजदूर दिवस को लेकर मजदूरो में खासा उत्साह देखा जा रहा था।

कार्यशाला शुरु होने के पूर्व मजदूरों ने अपने अधिकारो को लेकर विभिन्न प्रकार के नारो से माहौल को उत्साही व क्रांतिकारी बना दिया। दुनिया के मजदूरो एक हो के नारे के साथ सभी मजदूर इस कार्यशाला में भाग ले रहे थे।

उदघाटन अवसर पर जिला श्रम पदाधिकारी ने मजदूरो को उनके अधिकार बताये। सरकार द्वारा दी जाने वाली सहायता राशि के बारे में विस्तार से बताया। उन्होने कहा कि सरकारी लाभ लेने के लिए सभी मजदूरों को निबंधन करवाना अनिवार्य है। उन्होने मजदूरों को विभिन्न काम के तय न्यूनतम मजदूरी की भी जानकारी दी।

पेषन से लेकर अन्य लाभ

श्रम विभाग द्वारा निबंधित मजदूरो को पेशन, मातृत्व लाभ, चिकित्सा लाभ, विकलांगता लाभ, सायकिल औजार खरीद लाभ के साथ साथ बच्चो के उच्च शिक्षा, विवाह आदि में भी लाभ प्रदान किया जाता है। जिले में भवन निर्माण में लगे लगभग 5500 मजदूरो ने यहा निबंधन करा लिया है। निबंधन किये जाने वालो को सराकर द्वारा 13 प्रकार के आर्थिक मदद दी जाती है। 50 रुपये की छोटी राशि से निबंधन किया जाता है। श्रम कार्यालय में निबंधन के लिए आवेदन दिया जाता है।

%d bloggers like this: