• Monday, 05 December 2022
दिसंबर में नगर निकाय चुनाव का रास्ता साफ....? अति पिछड़ों के सर्वे का काम पूरा

दिसंबर में नगर निकाय चुनाव का रास्ता साफ....? अति पिछड़ों के सर्वे का काम पूरा

दिसंबर में नगर निकाय चुनाव का रास्ता साफ....? अति पिछड़ों के सर्वे का काम पूरा  

 
न्यूज डेस्क, पटना 
 
बिहार में नगर निकाय के चुनाव पर उच्च न्यायालय के आदेश पर रोक लगा दी गई थी। इसमें उच्चतम न्यायालय के निर्देशानुसार अति पिछड़ों के आरक्षण का मामला सामने आया था । इसके लिए एक विशेष आयोग बनाकर अति पिछड़ों के सामाजिक, शैक्षणिक, आर्थिक और राजनीतिक स्थिति का पता लगाने का निर्देश था।  राज्य सरकार के द्वारा अति पिछड़ा आयोग का गठन कर सर्वे के काम में लगाया गया । सर्वे का काम पूरा कर लिया गया है । 
इस सर्वे का रिपोर्ट ए एन सिन्हा इंस्टिट्यूट को भेज दिया गया है। 1050 वार्ड इसके लिए चिन्हित किए गए थे और 3500 कर्मचारियों ने 10 दिनों के अंदर सर्वे का काम 261 शहरों में पूरा कर दिया। इसमें 52000 अति पिछड़ा परिवार का सर्वे किया गया है।

 
 
 
 
सर्वे में   बिहार में अति पिछड़े की सामाजिक स्थिति क्या है। शैक्षणिक रूप से यह वर्ग कितना पिछड़ा हुआ है इसका सर्वे किया गया। आर्थिक रूप से वर्ग के पिछड़ेपन के कारण का सर्वे किया गया और राजनीतिक रूप से भी अति पिछड़ा वर्ग के पिछड़ेपन के कारण का सर्वे किया गया।
 
 मीडिया रिपोर्ट में बताया गया कि 261 नगर निकायों में अति पिछड़ा के सर्वे का काम समाप्त कर भेज दिया गया है। एएन सिन्हा इंस्टीच्यूट के द्वारा डेटाबेस तैयार किया जा रहा है। रिपोर्ट के अध्ययन के बाद अति पिछड़ा आयोग को भेज दिया जाएगा। अति पिछड़ा आयोग इसी रिपोर्ट के आधार पर चुनाव आयोग को अपना मंतव्य देगा।
 

दिसंबर में हो सकते हैं नगर निकाय  चुनाव 

 
मीडिया रिपोर्ट में बताया गया है कि तेजी से सर्वे का काम खत्म कर लिया गया है। इस वजह से दिसंबर में नगर निकाय चुनाव होने की संभावना बढ़ रही है। बताया जाता है कि चुनाव आयोग 15 दिनों में अनुशंसा मिलने के 15 दिनों के बाद विधिवत चुनाव कराने की घोषणा कर देगा। माना जा रहा है कि नवंबर के अंतिम सप्ताह में सरकार आयोग को अनुशंसा भेज देगी।

Share News with your Friends

Comment / Reply From

You May Also Like

Stay Connected

Newsletter

Subscribe to our mailing list to get the new updates!