शेखपुरा

डिस्टिक जज ने कहा आपसी सहमति से सुलझाएं विवाद

शेखपुरा न्यूज़ ब्यूरो

जिला जज रमेश कमार सिंह ने कहा कि लोक अदालत आसपी सहमति के आधार पर विवादो के निपटारे का एक सरल मार्ग हैं। इसमें छोटे छोटे विवादो का निपटारा शीघ्र हो जाता है। शांतिपूर्ण विवादो को सुलझाने का इससे अच्छा और कोई सुगम उपाय नहीं है। श्री सिंह रविवार को जिला न्यायालय परिसर में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत के उदघाटन अवसर पर बोल रहे थे। उन्होने लोक अदालत का दीप जलाकर विधिवत उदघाटन किया। इस अवसर पर एडीजे ज्ञानेंद्र कुमार श्रीवास्तव, सीजेएम रोतेश शुक्ला, एसीजेएम देशमुख, जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव विवेकानन्द प्रसाद, भूमि सुधार उप समाहत्र्ता मो0 युनुस अंसारी, बिहार ग्रामीण बैंक के क्षेत्रीय प्रबंधक आरएस जैन, ग्रामीण बैंक के जिला समन्वयक राजीव कुमार चैधरी, जिला विधिज्ञ सुघ के संयुक्त सचिव चन्द्रमौली प्रसाद यादव, कोषाध्यक्ष मो0 शकील अहमद सहित बडी संख्या में अधिवक्ता अधिकारी कर्मचारी और विवादो का निपटारा करने आये लोग मौजुद थे। जिला विधिक सेवा प्राधिकार द्वारा राष्ट्रीय लोक आदालत में विवादो के निपटारा के लिए चार पीठ का गठन किया था। सभी पीठ में न्यायिक पदाधिकारी व अधिवक्ता को स्थान दिया गया था। जिला जज ने उदघाटन अवसर पर लोगो को लोक अदालत का लाभ उठाने का आग्रह किया। आपराधिक, दीवानी विवादो के अलावा मोटर यान दुर्घटना दावा, बैंक श्रृण आदि के मामले सुलझाये जाने की जानकारी दी। भूमि सुधार उप समाहत्र्ता ने बैंक के सुस्ती के कारण बडे संख्या में निलाम वाद के निपटारा नहीं होने की जानकारी दी। लोक अदालत में यह बात भी सामने आई कि पिछले लोक अदालत के निपटाये गये मामलो में भी एक बार फिर से पक्षकार को नोटिस कर दी गई है।

%d bloggers like this: