latest posts

9430804472 / 7992322662 sathisnews@gmail.com
आजकलशेखपुरा

DM ने पूछा- थानेदार साहब घोटालेबाज रईस मिल मालिक क्यों नहीं होते गिरफ्तार..

शेखपुरा।

जिला अधिकारी योगेंद्र सिंह आज मोहर्रम को लेकर समीक्षा बैठक कर रहे थे। समीक्षा बैठक में पुलिस कप्तान दयाशंकर भी मौजूद थे। विभिन्न विषयों पर चर्चा के बाद जिलाधिकारी ने जब थानाध्यक्षों से पूछा कि सरकार का करोड़ों रुपए गबन कर राइस मिल के संचालक खुले क्यों घूम रहे हैं और उसकी गिरफ्तारी क्यों नहीं होती?

जिलाधिकारी के इस सवाल पर थाना अध्यक्ष चुप्पी साध गए! बाद में डीएम ने कहा कि गिरफ्तारी नहीं होने पर थाना अध्यक्ष के विरुद्ध सख्त कारवाई की जाएगी और विभागीय कार्रवाई भी होगी।

करोड़ों रुपए का है घोटाला

राइस मिल मालिकों द्वारा करोड़ों रुपए का घोटाला करने का मामला विभिन्न थानों में दर्ज है। FIR दर्ज होने के बाद राइस मिल के संचालक खुलेआम घूमते हैं परंतु उसकी गिरफ्तारी नहीं होती इस बात की भनक जिलाधिकारी को लगी तो उन्होंने मीटिंग में ही थाना अध्यक्षों को घेर लिया।

किसके यहां कितना बकाया

विवेक मिल के पास 55 लाख रुपये, मां दुर्गा राइस मिल के पास 1 करोड़ का 51 लाख रुपये, भगवती मिल के पास 46 लाख रुपये, जगत गुरु महादेव मिल के पास 28 लाख रुपये तथा सहायक गोदाम अधिकारी रमेश सिंह के पास 26 लाख रूपय घोटाले का बकाया है जिसकी प्राथमिकी भी दर्ज कराई गई है।

stay connected

- Advertisement -

ताज़ा ख़बर

- Advertisement -
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: