latest posts

9430804472
बरबीघाशेखपुरा

उगते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ छठ महापर्व का हुआ समापन

शेखपुरा

शेखपुरा जिले में उगते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ 4 दिनों तक चलने वाला छठ महापर्व का समापन हो गया। 4 दिनों तक धार्मिक अनुष्ठान को लेकर गांव शहर में धूम रही और सभी लोग छठ महापर्व के पूजा में व्यस्त रहे। शेखपुरा जिले के गांव और शहर के छठ घाटों पर धर्मावलंबी छठ व्रती महिलाओं के द्वारा दिया गया। कई जगहों पर पुरुषों ने भी भगवान भास्कर को अर्घ्य देकर अपनी आराधना की और मनोकामना की।

इस अवसर पर शेखपुरा शहर के रतोइया छठ घाट, अरधोती छठ घाट सहित विभिन्न घाटों पर बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं के द्वारा पूजा अर्चना की गई। अर्घ्य की समाप्ति के बाद छठ व्रती माताओं के द्वारा प्रसाद का वितरण किया गया। जिसमें ठेकुआ, पकवान सहित केला, सेव इत्यादि का वितरण प्रसाद के रूप में किया गया। इस मौके पर छठ घाटों पर लोगों ने परिवार के साथ बैठकर प्रसाद ग्रहण किया और छठ व्रतियों का चलने वाला निर्जला व्रत भी समाप्त हो गया।


प्रशासनिक व्यवस्था रही चुस्त-दुरुस्त

छठ घाटों पर प्रशासन के द्वारा व्यवस्था की गई थी जो दुरुस्त देखी गई। नगर परिषद में खास तौर पर यह देखने को मिला। शेखपुरा नगर परिषद और बरबीघा नगर परिषद के द्वारा अपने-अपने क्षेत्र के छठ घाटों पर यह व्यवस्था की गई थी जहां व्रती महिलाओं के लिए विशेष सुविधा उपलब्ध कराई गई थी। जिला प्रशासन के सहयोग से भी विभिन्न छठ घाटों पर व्रती महिलाओं के वस्त्र परिवर्तन को लेकर वस्त्र परिवर्तन क्षेत्र बनाया गया था।

घाटों पर भीड़ उपस्थित होने पर मेडिकल की सुविधा भी उपलब्ध करवाई गई थी। शेखपुरा नगर परिषद क्षेत्र के द्वारा शुद्ध पेयजल इत्यादि की भी व्यवस्था छठ घाटों पर की गई थी। बरबीघा नगर परिषद क्षेत्र के गांधी सरोवर में भी नगर परिषद के द्वारा बेहतर व्यवस्था साफ-सफाई इत्यादि किया गया था।

गांव-गांव रही छठ पर्व की धूम

गांव-गांव छठ पर्व को लेकर धूम देखी गई और व्रती महिलाओं के द्वारा अर्घ्य दिया गया। भगवान भास्कर को अर्घ्य देने के लिए गांव के तालाब को ही घाट बनाया गया जबकि कई जगहों पर सूर्य मंदिर में पूजा अर्चना किया गया।

जिले के अरियरी प्रखंड के इटहरा गांव, शेखपुरा सदर प्रखंड के हथियामा गांव, मेहुस गांव, नीमी गांव, बरबीघा प्रखंड के तेतारपुर, तेउस सूर्य मंदिर में बड़ी संख्या में छठ व्रत करने वाले जुटे और भगवान भास्कर को अर्घ्य दिया और सूर्य मंदिर में जा कर पूजा अर्चना की। इन जगहों पर सूर्य मंदिर में पूजा करने के लिए दूर-दूर से श्रद्धालु जुटे और भगवान शिव की पूजा की और मनोकामना मांगी।

Leave a Response

stay connected

- Advertisement -

ताज़ा ख़बर

- Advertisement -
error: Content is protected !!
Open chat
1
📢 ख़बरें, 📝 अपनी जन समस्या,🛣 अपने क्षेत्र की कोई घटना,कोई ख़ास बात, 💭किसी मुद्दे पर अपनी राय ,लेख/ऑडियो/विडियो/फ़ोटो 📸 Whatsapp 👁‍🗨 पर तुरंत भेज सकते है | 📲 079923 22662
Powered by